20170419

प्रो. शैलेंद्रकुमार शर्मा विनोबा भावे राष्ट्रीय नागरी लिपि सम्मान से अलंकृत

 विनोबा भावे राष्ट्रीय नागरी लिपि सम्मान से पुरी में सम्मानित हुए प्रो. शैलेंद्रकुमार शर्मा

विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के कुलानुशासक प्रो. शैलेन्द्रकुमार शर्मा को ओड़ीसा के जगन्नाथ पुरी में राष्ट्रीय आचार्य विनोबा भावे नागरी लिपि सम्मान 2016 से सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान देवनागरी लिपि के संप्रसार एवं संवर्धन के लिए किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए नागरी लिपि परिषद, नई दिल्ली द्वारा पुरी में सम्पन्न नागरी लिपि परिषद के राष्ट्रीय अधिवेशन में दिया गया। उन्हें यह सम्मान हैदराबाद के आंध्र प्रदेश भूदान बोर्ड अध्यक्ष सी वी चारी, उत्कल राष्ट्रभाषा प्रचार सभा, कटक की मंत्री विनीता पाठक, नागरी लिपि परिषद के मंत्री डॉ परमानंद पांचाल एवं साहित्यकार राधाकान्त मिश्र द्वारा अर्पित किया गया। इस सम्मान के अंतर्गत उन्हें प्रशस्ति पत्र, सम्मान राशि, प्रतीक.चिह्न और अंगवस्त्र अर्पित किए गए। इस अधिवेशन के तकनीकी सत्र में प्रमुख वक्ता के रूप में प्रो॰ शर्मा ने विश्व पटल पर देवनागरी लिपि की वैज्ञानिकता और सूचना प्रौद्योगिकी पर केन्द्रित व्याख्यान भी दिया।

प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा को आचार्य विनोबा भावे राष्ट्रीय नागरी लिपि सम्मान से अलंकृत करते अतिथिगण 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें